Uncategorized
Great Story

Great Story

Advertisements

नमस्कार मित्रोएक बार की बात हे एक राजा था वह अपनी प्रजा के लिए भगवान के सामान था उसके राज्य में सब ख़ुशी से अपना जीवन व्यतीत करते थे, एक दिन की बात हे राजा की बेटी बहूत बीमार हो जाती हे और बहुत इलाज करने पर भी वह ठीक है नहीं होता बड़े बड़े हक़ीम भी थक जाते हे दिन ब दिन उसकी तबियत ख़राब होने लगती हे राजा अपनी बेटी से बहुत प्यार करता था, उसको इस हालत में देख वह रोने लगा उसे समझ नहीं आ रहा था क्या सही, फिर एक वेद आया और लड़की को देखते ही समझ गया, और राजा से बोला महाराज आपकी बेटी ठीक हो जाएगी अगर यह कोई दिल से दुआ देगा तो राजा बोला में कुछ भी करूँगा अपनी बेटी के लिए आप बताइये मुझे क्या करना हे वेद बोला महाराज अगर यह कोई दिल नहीं दुखा देगा तो आपकी बेटी ठीक हो जाएगी, राजा ने आदेश दिया मेरे राजय में जितने भी गरीब हे उन सब को एक सोने का सिक्का बांट दो, अब हर रोज राजा के आदेशानुसार ऐसा होने लगा दिन पर दिन रुकते चले गए राजकुमारी पर कुछ भी असर नहीं हुआ हो रहा था राजा ने वेद को बुलाया और उसे कहने लगा आप के कहे अनुसार मेने राजय के सभी आर्केडबो को धन देना शुरू कर दिया हे पर मेरी बेटी में तनिक भी सुधार नहीं आया सारा राजकोष भी अब खतम होने लगा हे बताइये में क्या करूवेद बोला महाराज मेने आपको कहा था अगर कोई आपको दिल से दुआ देगा तो आपकी बेटी ठीक हो जाएगी लेकिन अपने सोने की मोरी बॉटनी शुरू तो करदी लेकिन वे सब लालची हे वो दुआ तो देते हे पर लालच में, ताकि दुबला रेखा में लग के दूसरे मोहर प्राप्त कर सके, इसलिए आपकी बेटी पर उनका कोई असर नहीं हो रहा है,राजा बोला तो बताइये में क्या करू,वेद बोला आज आप अपने राज्य में रात को जाइये और देखिये सब से दुखी कोन हैं उसकी सहायता करें अगर वह आपको दिल से दुआ दे देता है तो आपकी बेटी ठीक हो जाएगी, राजा ने वैसा ही किया रात को भेष बदलकर अपने राज्य में गया वह पुरे राज्य में घूमता रहा पर उसे कोई दुखी नहीं मिला थक कर वह एक झूठा के पास जाकर बैठ गया उसने देखा एक महिला जो बहोत रो रही हे और अपने जीवन को कोस रही हे, वह अंदर गई और उसे महिला से पूछा आप बहुत ज्यादा रो क्यों रही हो, महिला बोली में दिन भर मजदूरी करती हु शाम को मुझे एक रुपया मिल जाता हे जिससे में अपने बच्चे का दूध और अपने लिए कुछ खाने के लिए ले लेती थी, राजा ने तुम्हारे पति से पूछा हे वो बोलती हे उनका स्वर्गवास हो गया हे ये छोटा सा बच्चा और में यह जगह रहती हु, आज जब मुझे मजदूरी मिली तो में घर आ ही रहा था की मेरे हाथ से वो सिक्का गिर गया, पूजाधने से भी नहीं मिला और मेरा बेटा सुबह से भूखा हे और रोये जा रहा हे में उसको देख कर रोये जा रहे हो, राजा से सहा नहीं गया था कि वह स्त्री को कुछ पैसे दिए और चला गया।अगले दिन जब वह उठा तो उसने देखा कि उसकी बेटी उसके पास आके खेलने लगी राजा की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रही उसने वेद जी को बुलाया और पूछा ये सब कैसे हो गए वेद बोला महाराज कल जिस औरत की अपने मदद की थी उसने तुम्हें दिल से दुआ दी। दी थी, अपने जो उसे पैसे दिए थे उन्होंने उन पैसे सो अपने बच्चे की भूख को शांत किया जब वे शांत हो गए तब उसकी माँ तब उसकी माँ का मन शांत हो गया और उस ने आपको दिल से दुआ दी, जिसके कारन आपकी बेटी ठीक है हो गया।इसलिए कहते हैं हे आत्मा सो परमात्मा।

The Great Story

Hello friends

Once upon a time he was a king, he was like a god to his subjects, everyone used to live his life happily in his kingdom, for one day, the king’s daughter becomes very ill and even after being treated very well, she is fine It does not get too big, he gets tired day by day, the king loves his daughter very much, seeing him in this condition, he started crying and he could not understand what to do, then a Veda came and the girl On seeing this, he understood, and the king said that your daughter will be cured, if someone prays for it from the heart, then the king will do

anything in his prayer, tell me what to do for my daughter. So your daughter will be fine, the king ordered that in my kingdom, distribute a gold coin to all the poor who are poor, now it started happening every day as per the king’s orders, but they spent every day, but no effect on the princess. It was happening that the king called Veda and started telling him that according to your opinion, I started giving money to all the poor people of the kingdom, but there is no improvement in my daughter at all. The entire treasury has also started coming to an end, tell me what to do
Veda said, Maharaj, I told you that if someone gives you prayers from your heart, then your daughter will be cured, but she started her gold pieces botany, but they are all greedy, they offer blessings but in greed, so that the second one will be in line. Get the stamp, so they have no effect on your daughter,


If the king says, tell me what to do
Ved said today go to your kingdom at night and see who is the unhappiest of all, help him. If he gives you his heartfelt prayers then your daughter will be fine, the king did the same in the night by changing his disguise He went wandering all over the state, but he did not find any unhappiness. He got tired of going to a hut and sat down. He saw a woman who is crying and cursing her life, he went in and asked her that much. Why are you crying, the woman is working all day in the bid, in the evening I get a rupee from which I used to take my baby’s milk and something to eat for herself, the king asked, “Your husband said,” She speaks of her death. It is done, this little child and I live alone in this place, today when I got wages, I was coming home that coin fell from my hand, I could not find it and my son was hungry since morning and wept. I am going to cry after seeing him, he did not suffer from the king, he gave the woman some money and went away.


The next day, when he woke up, he saw his daughter coming to him and playing with him, the king was not happy with him, he called Ved ji and asked how it all happened. Veda said that the lady whom he had helped himself yesterday prayed with your heart. He had given his money to him, he pacified his child’s hunger by getting those money, when he became calm then his mother, then his mother’s heart became calm and he gave you a heartfelt prayer, due to which your daughter is fine happened.

That is why souls are said to be divine.

2 thoughts on “Great Story

Leave a Reply

%%footer%%